छोटी-छोटी बात रहेगी याद, रोजाना पीजिये ये जूस, जानें इससे होने वाले फ़ायदे और नुकसान-

जैसा कि आप सभी लोग जानते है कि चुंकन्दर का जूस पीने से व्यक्ति के शरीर मे ब्लड बनना शुरू हो जाता है और इससे शरीर मे शक्ति आ जाती है इसलिए कई लोग इसे खून बढ़ाने वाला फल भी मानते हैं इसमें सोडियम, पोटैशियम, फॉस्फोरस, कैल्शियम, सल्फर, क्लोरीन, आयोडीन, आयरन, विटामिन बी1, बी2 और सी उचित मात्रा में पाया जाता है और चुकंदर के पत्तों में भी आयरन, कैल्शियम और विटामिन जैसे पोषक तत्व पाए जाते हैं जो हमें कई बीमारियों से बचाते हैं इसलिए चुकंदर के पत्तों का सेवन करने से हमारे शरीर में कभी भी खून की कमी नहीं होगी यह सेहत के साथ-साथ सौंदर्य के लिए भी लाभदायक है। प्रतिदिन एक कप चुकंदर के पत्तों का जूस पीने से आपको कोई भी बीमारी नहीं होगी अगर आप अपनी मानसिक सेहत सुधारना चाहते हैं या अपनी समृति क्षमता बढ़ाना चाहते हैं तो रोजाना सुबह-सुबह चुकंदर का जूस पीना शुरू कर दें.

अमेरिका स्थित वेक फॉरेस्ट यूनिवर्सिटी में हुए एक हालिया शोध की रिपोर्ट में यह दावा किया गया कि रोजाना सुबह एक्सरसाइज से पहले बीट रूट जूस यानी कि चुकंदर का जूस पीने से मानसिक सेहत न केवल दूरुस्त होती है, बल्कि इससे हमारा मस्तिष्क हमेशा युवा बना रहता है.

4-1

चुकंदर के जूस से बढ़ती है उम्र, जानें कैसे

अध्ययनकर्ताओं ने यह अध्ययन 26 पुरुषों और 55 महिलाओं पर किया है, जिनकी उम्र 55 साल से ज्यादा थी. यही नहीं अध्ययन में शामिल अधिकांश अभ्यर्थ‍ियों को उच्च रक्तचाप की परेशानी थी.

अध्ययन में शामिल होने वाले सभी अभ्यर्थ‍ियों को 6 सप्ताह तक सुबह-सुबह चुकंदर का जूस पिलाया गया और फिर इसके बाद 50 मिनट तक ट्रेडमिल पर एक्सरसाइज कराया गया.

chukandar-Copy

कैंसर के इलाज में काम आएगी पीपली –

शोधकर्ताओं ने 6 सप्ताह के बाद उनकी मानसिक क्षमता में बदलाव पाया. उनकी याददाश्त पहले से कहीं ज्यादा मजबूत हो चुकी थी और उनमें फैसले लेने की ताकत भी अब ज्यादा थी.

दरअसल, एक्सरसाइज करने की वजह से हमारा मस्त‍िष्क मजबूत होता है, पर इसके साथ चुकंदर का जूस पीने से मस्त‍िष्क को और भी ज्यादा ऑक्सीजन मिलने लगता है, जिसका असर याद रखने की क्षमता पर होता है

4-1

चुकंदर से नुकसान –

जैसे चुकंदर खाने के फायदे हैं वैसे ही इसे अधिक मात्रा में खाने से नुकसान भी हैं।

चुकंदर में आयरन और कॉपर भरपूर मात्रा में पाए जाते हैं। हेमोक्रोमैटोसिस (Hemocromatosis) के रोगी को इसके सेवन से बचना चाहिए।

जो कम रक्तचाप की समस्या से परेशान हैं उन्हें चुकंदर का सेवन कम कर देना चाहिए।

चुकंदर अधिक मात्रा में खाने से मतली और डायरिया की समस्या ही सकती है।

किडनी की बीमारियों से पीड़ित लोगों को चुकंदर की अधिक मात्रा लेने से बचना चाहिए।

LEAVE A REPLY