सुनो अखिलेश जी: आपके बयान पर गुजरात के शहीदों के परिवार का जवाब

शहीद के परिवार की फोटो गूगल इमेज से ली गयी है : साभार NBT

हाल में ही सूबे के पूर्व मुख्यमंत्री व सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव के द्वारा एक बयान जारी किया गया था और उस बयान में उन्होंने गुजरात के लोगों से कह था कि यूपी, एम.पी., दक्षिण भारत हर जगह से जवान शहीदहुए लेकिन गुजरात से कोई शहीद हुआ हो तो बताओ जिस पर गुजरात से शहीद जवानों की संख्या पूछने वाले अखिलेश यादव को गुजरात के शहीद जवानों के परिवार वालों ने जवाब दिया है। अंग्रेजी अखबार टाइम्स ऑफ इंडिया के मुताबिक यूपी के पूर्व सीएम अखिलेश यादव के बयान ले वो काफी आहत हैं। 1999 में करगिल युद्ध में शहीद होने वाले मुकेश राठौड की पत्नी राजश्री का कहना है कि एसपी नेता अखिलेश का बयान दिल दुखाने वाला है। राजश्री ने कहा कि शहीद किसी एक राज्य के नहीं होते हैं उनकी कुर्बानी पूरे देश की कुर्बानी होती है। मुकेश राठौड की मां का कहना है कि देश के लिए बेटे को खोने का दर्द क्या होता है ये अखिलेश नहीं समझ पाएंगे।


Image result for अखिलेश के बयान पर गुजरात के शहीदों के परिवार वालों का जवाबबता दें कि आतंकवाद के खिलाफ जंग लड़ते हुए गुजरात से ताल्लुक रखने वाले 20 जवानों ने कुर्बानी दी है। जबकि 24 जवान भारत की सीमा की रक्षा करते हुए शहीद हुए हैं। 1987 में सियाचीन ग्लेशियर में पाकिस्तानी जवानों से जंग में शहीद हुए कैप्टन नीलेश सोनी के परिवार वाले भी अखिलेश यादव के इन आरोपों से खफा हैं। नीलेश सोनी के भाई जगदीश सोनी का कहना है कि शायद अखिलेश गुजरात के बारे में नहीं जानते हैं फिर भी उन्हें ऐसी ओछी टिप्पणी नहीं करनी चाहिए थी। इसी तरह शहीद मेजर रुषीकेश रमानी ने कुपवाड़ा आतंकियों से लड़ते हुए अपनी जान गंवा दी थी। इसी साल गुजरात के ही लॉन्स नायक गोपाल सिंह भरदोरिया ने आतंकियों के साथ भीषण जंग में शहीद हुए थे। गोपाल के पिता मुनीम सिंह कहते हैं कि अखिलेश जी को यूपी की जनता से सत्ता से बाहर कर दिया है, लेकिन वे मर्यादा भूल गये हैं, वे देश को बांटने की कोशिश कर रहे हैं।
टाइम्स ऑफ इंडिया की रिपोर्ट के मुताबिक 31 मार्च 2017 को गुजरात में 26, 656 एक्स आर्मी थे। गुजरात के 39 जवानों को देश ने बहादुरी के लिए सम्मानित किया है। इन जवानों ने देश की रक्षा के लिए मुश्किल हालात में अदम्य साहस का परिचय दिया था। 2007 में सेना से रिटायर होने वाले कैप्टन आलाप देसाई कहते हैं कि गुजरात के लोगों का सेना में प्रतिनिधित्व कम है इस बात से वे भी वाकिफ हैं, लेकिन अखिलेश यादव ने इस बात को बेहद गलत तरीके से दुनिया के सामने पेश किया। सेना में गुजरात के कम प्रतिनिधित्व की वजह माइंडसेट और स्थानीय संस्कृति है।
Facebook

">
SHARE
Previous articleसावधान इंडिया: कहीं आपका भी शौचालय ना हो जाये चोरी
Next articleपरमाणु परीक्षण की वर्षगांठ पर पीएम मोदी ने अटल के साहस को सराहा
■ www.indianews24x7.Com ■ www.indianews24x7.in ● इंडिया न्यूज़ 24x7 एक वेब न्यूज़ पोर्टल है, इस वेब न्यूज़ पोर्टल का किसी भी रीजनल या नेशनल चैनल से किसी प्रकार का वास्ता नही है, इंडिया न्यूज़ 24x7 न्यूज़ पोर्टल को किसी भी नेशनल या रीजनल चैनल के साथ नाम जोड़कर बताने वाला व्यक्ति या संस्थान स्वयं जिम्मेदार होगा, तथा कानूनी कार्यवाही का भी, ● इंडिया न्यूज़ 24x7 न्यूज़ पोर्टल भी कानूनी कार्यवाही में उस संस्थान के साथ खड़ा होगा जो ऐसा ग़लत कार्य करता पाया जाएगा, हमारे न्यूज़ पोर्टल का उद्देश्य पत्रकारिता की आड़ में दलाली को बढ़ावा देना नही है, बल्कि उसे जड़ से खत्म करना हैं । ●आवश्यक सूचना : इंडिया न्यूज 24x7 न्यूज पोर्टल को बेहतर बनाने में सहायता करें यदि किसी खबर या अंश मे कोई गलती हो या सूचना / तथ्य में कोई कमी हो अथवा कोई कॉपीराइट आपत्ति हो तो indianews24x7.in@gmail अथवा 08090697372, 09580697372 पर सूचित करें। साथ ही साथ पूरी जानकारी तथ्य के साथ दें, जिससे आलेख को सही किया जा सके या हटाया जा सके ।

LEAVE A REPLY