उत्तराखंड के प्रसिद्ध पर्यटक स्थलों में से एक है ये शहर 


इस समर वेकेशन पर आप कहीं घूमने जाने का प्लान बना रहे हैं तो आपको एक ऐसी जगह का नाम बताने जा रहे हैं. जोकि भारत के उत्तराखंड राज्य का एक प्रमुख पर्यटन नगर है इस नगर में आपको झील ही झील मिलेगी. बता दें कि झीलों का नाम सुनते ही जुबा पर एक ही नाम आता है जिसको नैनीताल कहते हैं. आपको पता है कि नैनीताल जिले का मुख्यालय भी है. कुमाऊँ क्षेत्र में नैनीताल जिले का विशेष महत्व है. देश के प्रमुख क्षेत्रों में नैनीताल की गणना होती है. यह ‘छखाता’ परगने में आता है. ‘छखाता’ नाम ‘षष्टिखात’ से बना है. ‘षष्टिखात’ का तात्पर्य साठ तालों से है. इस अंचल में पहले साठ मनोरम ताल थे. इसीलिए इस क्षेत्र को ‘षष्टिखात’ कहा जाता था. आज इस अंचल को ‘छखाता’ नाम से अधिक जाना जाता है. आज भी नैनीताल जिले में सबसे अधिक ताल हैं.

इसे भारत का लेक डिस्ट्रिक्ट कहा जाता है, क्योंकि यह पूरी जगह झीलों से घिरी हुई है. ‘नैनी’ शब्द का अर्थ है आँखें और ‘ताल’ का अर्थ है झील. झीलों का शहर नैनीताल उत्तराखंड का प्रसिद्ध पर्यटन स्‍थल है. बर्फ़ से ढ़के पहाड़ों के बीच बसा यह स्‍थान झीलों से घिरा हुआ है. इनमें से सबसे प्रमुख झील नैनी झील है जिसके नाम पर इस जगह का नाम नैनीताल पड़ा है. इसलिए इसे झीलों का शहर भी कहा जाता है. नैनीताल को जिधर से देखा जाए, यह बेहद ख़ूबसूरत है

नैनीताल में घूमिए इन ख़ास जगहों पर :-

◆ नैना देवी मंदिर
◆ पौराणिक नैनादेवी
◆ नैनी झील
◆ तल्ली एवं मल्ली ताल
◆ त्रिॠषि सरोवर
◆ मॉल रोड
◆ एरियल रोपवे

">

LEAVE A REPLY