वोट डालने पहुंची रिहाना, बूथ पर बैठा कर्मचारी बोला, आप तो मर चुकी हैं

0
55

नई दिल्ली. लोकसभा चुनाव-2019 के पहले चरण का मतदान जारी है. वोटिंग के दौरान कई जगहों पर इलेक्ट्रॉनिक वोटिंग मशीन में खराबी तो कई स्थानों पर मतदाताओँ के नाम लिस्ट से गायब होने की बात सामने आ रही है. मगर दिल्ली से सटे उत्तर प्रदेश के गाजियाबाद में एक अजीबो-गरीब मामला सामने आया.

गाजियाबाद लोकसभा सीट के अंतर्गत आने वाले कैला भट्टा इलाके के बूथ नंबर 267 में बृहस्पतिवार दोपहर मतदान करने पहुंची रिहाना नाम की महिला वोट नहीं डाल सकी.बूथ पर बैठे कर्मचारियों ने रिहाना को जानकारी दी कि उनका नाम मतदाता सूची में नहीं है. ऐसे में उन्होंने सवाल किया कि उनका नाम कैसे कटा? इसके जवाब में उन्हें बताया गया कि वोटर की मौत हो चुकी है. यह सुन कर रिहाना सन्न रह गई, क्योंकि वह जिंदा कर्मचारी के सामने खड़ीं थीं.

बता दें कि गाजियाबाद ही नहीं, बल्कि गौतमबुद्धनगर संसदीय क्षेत्र में भी इस तरह की समस्याएं आ रही हैं. गाजियाबाद से ज्यादा वोटिंग मशीन में खराबी की शिकायत गौतमबुद्धनगर में आई है.

बता दें कि वोटरों की सुबिधा के अनुसार यदि मतदान के दौरान आपको किसी प्रकार की समस्या आती है या आप आचार संहिता का किसी प्रकार से उल्लंघन होते हुए देखते हैं तो प्रशासन द्वारा बनाए गए कंट्रोल रूम में शिकायत की जा सकती है. इसके लिए प्रशासन द्वारा 0120-2826033, 0120-2826055 व टोल फ्री नंबर 1950 जारी किया गया है. इसके अलावा अाप अपनी शिकायत निर्वाचन विभाग द्वारा जारी एप सी-विजिल पर भी कर सकते हैं.

प्रशासन द्वारा जिले के सभी मतदान केंद्रों पर वोटरों के लिए विभिन्न सुविधाएं की हैं. मजिस्ट्रेटों द्वारा तीन बार भ्रमण कर इन सुविधाओं की जांच कर ली गई है. मतदान केंद्र पर छाया, पेयजल, बिजली, कुर्सी, हवा, शौचालय, फर्नीचर, साफ-सफाई समेत अन्य व्यवस्था की गई है.

मतदान के दौरान यदि किसी ईवीएम या वीवी पैट में किसी तरह की कोई तकनीकी खराबी आती है तो उसे तत्काल बदला जाएगा. इसके लिए प्रशासन द्वारा रिजर्व में मशीन रखी गई हैं और मास्टर ट्रेनरों की तैनाती की गई है. मशीन बदलने के लिए प्रशासन द्वारा रिजर्व ईवीएम मूवमेंट प्लान तैयार किया गया है. जिन वाहनों में मशीन रहेंगी उन वाहनों में जीपीएस सिस्टम लगाया गया है.


 

">

LEAVE A REPLY