राष्ट्रपति उमर अल बशीर का सूडान में शासन खत्म, आपातकाल हुआ घोषित


खारतूम. सूडानी सेना ने राष्ट्रपति उमर अल बशीर को 30 सालों के शासन के बाद इस्तीफा देने पर मजबूर कर दिया है. सूडान के रक्षा मंत्री अवाद मोहम्मद अहमद इब्न अफ ने गुरूवार को सरकारी सूडानी टेलीविजन पर अपने बहुप्रतीक्षित बयान में यह जानकारी दी है. रक्षा मंत्री ने अपने बयान में कहा“ मैं अवाद मोहम्मद अहमद इब्न अफ, सूडानी रक्षा मंत्री और उच्च सुरक्षा समिति प्रमुख देश के राष्ट्रपति और उनकी सरकार के अपदस्थ किए जाने तथा गिरफ्तारी के बाद उन्हें सुरक्षित स्थान पर ले जाने की घोषणा करता हूं.”

उन्होंने बताया कि दो वर्ष के कार्यकाल के लिए देश को चलाने की खातिर एक अस्थायी सैन्य परिषद की स्थापना की जाएगी. रक्षा मंत्री ने सूडान के अंतरिम संविधान को निलंबित किए जाने की घोषणा भी की. इसके अलावा तीन माह के आपातकाल और एक माह के कर्फ्यू की घोषणा भी की गई है.

रक्षा मंत्री ने सूडानी वायु क्षेत्र को 24 घंटों तक बंद रखने तथा सीमा पर सैनिकों की तैनाती की अगले आदेशों तक घोषणा की है. इसके अलावा राज्य सरकारों तथा विधायी परिषदों को भी भंग कर दिया गया है और राज्य के गवर्नरों तथा सुरक्षा समितियों को इनके संचालन के अधिकार दे दिए गए हैं. गौरतलब है कि सूडान में पिछले वर्ष 19 दिसंबर से आर्थिक बदहाली और आवश्यक वस्तुओं की बेतहाशा बढ़ती कीमतों के खिलाफ जोरदार धरने प्रदर्शन हो रहे थे. बता दें कि उमर अल बशीर 1989 से सूडान पर शासन कर रहा था.


 

">

LEAVE A REPLY