फिल्म समीक्षा : जंगली : यहाँ क्लिक कर के जाने कैसी है फिल्म

0
25

कलाकार- विद्युत जामवाल, अतुल कुलकर्णी, अक्षय ओबेरॉय, आशा भट, पूजा सावंत

निर्देशक- चक रसेल :  मूवी टाइप- ऐक्शन, अडवेंचर,थ्रिलर : अवधि- 1 घंटा 55 मिनट


1971 में रिलीज हुई फिल्म हाथी मेरे साथी के राजेश खन्ना सबको याद हैं, किसी को नहीं याद है तो बस ये कि इस फिल्म का निर्देशक कौन था? एम ए थिरुमुगम निर्देशित हाथी मेरे साथी में राजू को हाथियों से दोस्ती और फिर उसके प्यारे हाथी रामू की मौत का इंतकाम लेने की इस कहानी को दर्शकों ने खूब प्यार दिया. चक रसेल निर्देशित जंगली की भी कहानी यही है.


Image result for जंगली मूवी फिल्मकहानी- राज नायर ( विद्युत जामवाल) शहर में काम करने वाला जानवरों का डॉक्टर है. 10 साल के लंबे अरसे बाद वह अपनी मां की बरसी पर अपने घर उड़ीसा लौटता है तो उसके पिता हाथियों को संरक्षण प्रदान करने वाली एक सेंचुरी चलाते हैं. पत्रकार मीरा (आशा भट्ट) भी उसके साथ हो लेती है . वह राज के पिता पर एक आर्टिकल करना चाहती है.


 

राज के घर पर उसके पिता के साथ सेंचुरी को सपॉर्ट करने के लिए उसकी बचपन की साथी शंकरा ( पूजा सावंत) और फॉरेस्ट ऑफिसर देव भी है. हाथियों के साथ मौज-मस्ती करने वाले राज को ज़रा भी अंदाज़ा नहीं था कि उनकी खुशहाल सेंचुरी और हाथियों पर शिकारी नज़र गड़ाए बैठा है. हाथी दांत के विदेशी तस्करों के लिए शिकार करनेवाला शिकारी (अतुल कुलकर्णी) सेंचुरी में आकर हाथी दांत हासिल करने के लिए सबकुछ तहस-नहस कर देता है. क्या राज हाथियों को बचा पाएगा? क्या वह तस्करों और शिकारियों से अपने पिता और मारे गए हाथियों का बदला ले पाएगा. इसके लिए आपको फिल्म देखनी होगी.

">

LEAVE A REPLY