2nd वनडे में भारत ने लगाया ऑस्‍ट्रेलिया के खिलाफ जीत का चौका, सीरीज में 2-0 की बढ़त


नागपुर :  इनदिनों भारत और ऑस्ट्रेलिया के बीच वनडे सीरीज खेली जा रही है. वहीं भारत ने सीरीज के दो में दो मैचों में ऑस्ट्रेलिया को हराया है. साथ ही इस सीरीज में भारत ने अपना रिकॉर्ड बरकरार रखते हुए 2-0 की बढ़त बनाई रखी. भारत ने मेहमान टीम को 49 ओवर और 3 गेंद पर समेट दिया. आपको बता दें कि भारत ने दूसरे वनडे सीरीज मैच में मंगलवार को यहां ऑस्ट्रेलिया को आठ रन से हराया और सीरीज में 2-0 की बढ़त बना ली है. इसके साथ ही विदर्भ में ऑस्‍ट्रेलिया के खिलाफ भारत ने अपना रिकॉर्ड बरकरार रखा. वही, भारत के लक्ष्‍य का पीछा करते हुए ऑस्‍ट्रेलियाई टीम 49 ओवर और 3 गेंदों में 242 रन पर ऑल आउट हो गयी. आखिरी ओवर में विजय शंकर ने दो विकेट चटकाये और भारत को शानदार जीत दिलायी.

आपको बताते चलें कि भारत की ओर से सबसे शानदार गेंदबाजी कुलदीप यादव ने किया. उन्‍होंने 10 ओवर की गेंदबाजी में 54 रन देकर तीन विकेट चटकाये. वहीं बुमराह और शंकर ने दो-दो विकेट चटकाये. जडेजा और केदार जाधव को एक-एक विकेट मिले. इससे पहले कुलदीप यादव ने अपने दूसरे ओवर की पहली गेंद पर ऑरोन फिंच को 37 रन पर पग बाधा आउट किया. वहीं केदार जाधव ने सलामी बल्‍लेबाज ख्‍वाजा उस्‍मान को अपने दूसरे ओवर की तीसरी गेंद में 38 रन पर आउट किया. ख्वाजा और फिंच के बीच पहले विकेट के लिए 83 रन की साझेदारी निभायी.

वहीं इस सीरीज में भारतीय टीम के कप्तान विराट कोहली ने दबाव की परिस्थितियों में 40वां वनडे शतक लगाया जिससे भारत ने मध्यक्रम के लड़खड़ाने के बावजूद ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ दूसरे वनडे सीरीज के मैच में 48.2 ओवर में 250 रन का चुनौतीपूर्ण स्कोर खड़ा किया. वही, ऑस्ट्रेलिया के तीनों स्पिनरों एडम जंपा (दस ओवर में 62 रन देकर दो), ग्लेन मैक्सवेल (दस ओवर में 45 रन देकर एक) और नाथन लियोन (दस ओवर में 42 रन देकर एक) ने बीच के ओवरों में अच्छी गेंदबाजी की, लेकिन वह पैट कमिन्स (29 रन देकर चार विकेट) जो उसके सबसे सफल गेंदबाज रहे. वही, कमिन्स ने सलामी बल्लेबाज रोहित शर्मा (शून्य) को पहले ओवर में ही पवेलियन भेज दिया जिसके बाद कोहली ने क्रीज पर कदम रखा और 116 रन की लाजवाब पारी खेली जिसमें दस चौके शामिल हैं. उन्होंने अपने अधिकतर रन दौड़कर लिये. कोहली 48वें ओवर तक क्रीज पर रहे और 120 गेंदों का सामना किया.

उन्होंने हाल में समय में वनडे की एक बेहतरीन पारी खेली जिसमें उन्होंने अपने पसंदीदा ड्राइव का शानदार नजारा भी पेश किया. कोहली ने शुरू से पारी संवारने का बीड़ा उठाया, जबकि दूसरे छोर से शिखर धवन (21) और अंबाती रायुडू (18) क्रीज पर कुछ समय बिताने के बावजूद लंबी पारी नहीं खेल पाये. धवन अच्छी लय में दिख रहे थे, लेकिन ग्लेन मैक्सवेल ने उन्हें पगबाधा आउट कर दिया. रायुडु को स्ट्राइक रोटेटे करने में दिक्कत आ रही थी क्योंकि गेंद बल्ले पर नहीं आ रही थी. उन्हें आखिर में लियोन ने पगबाधा आउट किया. कोहली को विजय शंकर (41 गेंदों पर 46 रन) के रूप में अच्छा सहयोगी मिला. इन दोनों ने चौथे विकेट के लिये 81 रन जोड़े. शंकर हालांकि कोहली के स्ट्रेट ड्राइव पर दुर्भाग्यपूर्ण तरीके से रन आउट हो गये.

लेग स्पिनर जंपा ने इसके बाद केदार जाधव (11) और महेंद्र सिंह धौनी (शून्य) को लगातार गेंदों पर आउट किया लेकिन कोहली ने एक छोर संभाले रखा. कोहली ने नाथन कूल्टर नाइल की गेंद पर चौका जड़कर अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में अपना 65वां शतक पूरा किया. वही, पारी के अंतिम क्षणों में तेजी से रन बनाने की जरूरत थी, लेकिन रविंद्र जडेजा 40 गेंदों पर केवल 21 रन बना पाये. कमिन्स ने जडेजा को आउट करने के बाद कोहली की पारी का भी अंत किया. कुलदीप यादव (तीन) और जसप्रीत बुमराह (शून्य) भी तेजी से रन बनाने के प्रयास में आउट हो गये और भारत पूरे 50 ओवर भी नहीं खेल पाया.

">

LEAVE A REPLY