गूगल ने डूडल के जरिए कैफीन का आविष्कार करने वाले वैज्ञानिक को किया याद

गूगल अक्सर कुछ ना कुछ ऐसा खास करता है. जिससे उसकी तारीफ हो ही जाती है. अगर किसी खास व्यक्ति व किसी खास पल को याद करना हो तो भी गूगल नंबर वन पर रहता है और गूगल ने अपने डूडल के जरिए उन खास शख्स व उन खास पलों को याद करता है. आज का दिन भी गूगल ने ऐसा ही डूडल के जरिए खास बना दिया है. आपको बता दें कि आज गूगल ने अपने डूडल को जर्मन एनालिटिकल कैमिस्ट Friedlieb Ferdinand Runge को समर्पित किया है. गूगल अपने डूडल के जरिए उनका 225वां बर्थडे मना रहा है. गूगल ने इसके लिए एक आकर्षक डूडल को तैयार किया है. इस डूडल में Ferdinand को कॉफी का कप पकड़े देखा जा सकता है. इस कॉफी को पीते हुए दिख रहे हैं और इसके बाद उनके एक्सप्रेशन को भी देखा जा सकता है. उनके बगल में एक बिल्ली भी बैठी दिखाई दे रही है.

आपको बताते चलें कि Friedlieb को बचपन से ही कैमिस्ट्री की तरफ दिलचस्पी थी और उन्होंने इस दौरान कई प्रयोग भी किए. Friedlieb वहीं वैज्ञानिक थे जिन्होंने कैफीन की खोज की थी. कैफीन एक कड़वा पदार्थ होता है, जो एक साइकोएक्टिव (मस्तिष्क को प्रभावित करने वाला)  ड्रग है. 1819 में रंज ने इसकी खोज की और इसे कैफीन नाम दिया. इसके लिए जर्मन शब्द Kaffee था, जो कैफीन बन गया. बता दें कि इनका जन्म जर्मनी में 8 फरवरी 1794 को हुआ था. बचपन में ही उन्होंने एक बार बेल्डोना पौधे के रस से कोई प्रयोग शुरू किया, लेकिन इस रस की कुछ बूंदें उनकी आंखों में चली गई थी. उन्होंने अपनी डॉक्टरेट यूनिवर्सिटी ऑफ बर्लिन से पूरी की. इसके अलावा उन्होंने कोल तार डाई की भी खोज की जिसका इस्तेमाल कपड़ो को डाई के लिए किया जाता है.

LEAVE A REPLY