वर्ल्ड जूनियर बैडमिंटन चैम्पियनशिप में भारत को हासिल हुआ एकमात्र पदक


विश्व जूनियर बैडमिंटन चैंपियनशिप में भारत की ओर से खेल रहे 17 साल के लक्ष्य सेन ने भारत को कांस्य पदक दिलाया. बैडमिंटन चैंपियनशिप में भारत को एकमात्र पदक हासिल हुआ. आपको बता दें कि भारत के अनुभवी जूनियर बैडमिंटन खिलाड़ी लक्ष्य सेन ने सात साल का सूखा समाप्त करते हुए यहां जारी विश्व जूनियर चैम्पियनशिप में एकमात्र पदक हासिल किया. लक्ष्य को पुरुष एकल वर्ग के सेमीफाइनल में हार मिली, लेकिन वह कांस्य पदक हासिल करने में सफल रहे.

बताया जा रहा है कि भारत के 17 वर्षीय खिलाड़ी लक्ष्य को सेमीफाइनल में थाईलैंड के कुनलावुत वितिदसार्न ने 20-22, 21-16, 21-13 से मात दी. इस हार के कारण भारतीय खिलाड़ी को कांस्य पदक से ही संतोष करना पड़ा. विश्व जूनियर बैडमिंटन चैंपियनशिप में इस साल लक्ष्य के द्वारा भारत को एकमात्र पदक हासिल हुआ है. इस चैम्पियनशिप में सात साल पहले समीर वर्मा ने कांस्य पदक हासिल किया था. इसके अलावा, बी. साई प्रणीत ने 2010 में कांस्य पदक ही जीता था. इस चैम्पियनशिप का स्वर्ण पदक भारत की सबसे अनुभवी बैडमिटन खिलाड़ी सायना नेहवाल के नाम है. उन्होंने 2008 में यह उपलब्धि हासिल की थी.

LEAVE A REPLY