फिल्म समीक्षा : ‘ठग्‍स ऑफ हिंदुस्‍तान’ की कहानी कंफेशन ऑफ द ठग्‍स नाम पर है आधारित


स्टार कास्ट :- आमिर ख़ान, अमिताभ बच्चन, कटरीना कैफ़ और फातिमा सना शेख

निर्देशक :- विजय कृष्ण आचार्य

निर्माता :- यशराज फिल्म्स

ठग्‍स ऑफ हिंदुस्‍तान की कहानी 1839 में आए कंफेशन ऑफ द ठग्‍स नाम के उपन्‍यास पर आधारित है. ये 1790 से 1805 के बीच की कहानी है.  ये ब्र‍िट‍िश इंडिया के समय उत्‍तर प्रदेश में सक्रिय ठग्‍स की कहानी है, जो अंग्रेज सरकार के लिए सिर दर्द बन गए थे.

3-1541573928

कहानी :- फिल्म की कहानी 1795 के भारत की है, जब भारत पर ईस्ट इंडिया कंपनी का राज था और बहुत सारे राज्य अंग्रेजों के हाथों में थे. लेकिन रौनकपुर एक ऐसा राज्य था जो अंग्रेजों की पकड़ से दूर था. वहां का सेनापति खुदाबख्श जहाजी (अमिताभ बच्चन) अपने मिर्जा साहब (रोनित रॉय) का और पूरे प्रदेश का ख्याल रखता था. किन्हीं कारणों से मिर्जा साहब की मृत्यु हो जाती है और उनकी बेटी जफीरा (फातिमा सना शेख) की पूरी जिम्मेदारी खुदाबख्श के हाथों में आ जाती है.

4-1541573936

इसी बीच, कहानी 11 साल आगे बढ़ती है और फिर फिरंगी मल्लाह (आमिर खान) की एंट्री होती है जो अपनी दादी की कसम खाकर किसी से कितना भी झूठ बोल सकता है. उसका मकसद सिर्फ एक ही होता है, पैसे कमाना. इसी बीच खुदा बख्श और फिरंगी मल्लाह की मीटिंग होती है.  कहानी में ट्विस्ट तब आता है जब ईस्ट इंडिया कंपनी का जनरल क्लाइव, इन सब को बहुत परेशान करने लगता है. सुरैया (कैटरीना कैफ) अंग्रेजी शासकों का दिल बहलाने का काम करती है. कहानी में कई सारे मोड़ आते हैं और अंततः एक रिजल्ट आता है जिसे जानने के लिए फिल्म देखनी पड़ेगी.

इस फिल्‍म में पहली बार अमिताभ और आमिर की जोड़ी नजर आएगी. इससे पहले उन्‍होंने साथ में किसी फिल्‍म में काम नहीं किया. 75 साल की उम्र में अमिताभ ने इस फिल्म में एक्शन सीन्स किए हैं. ट्रेलर में इसे देखा जा सकता है.

साभार : पल-पल इंडिया

LEAVE A REPLY