फिल्म समीक्षा : नाम जीनियस पर कहानी है कमजोर

0
51

फिल्म का नाम: जीनियस
डायरेक्टर: अनिल शर्मा
स्टार कास्ट: उत्कर्ष शर्मा, इशिता चौहान, नवाजुद्दीन सिद्दीकी, मिथुन चक्रवर्ती
अवधि: 2 घंटा 44 मिनट
सर्टिफिकेट: U/A
रेटिंग: 2 स्टार


डायरेक्टर अनिल शर्मा ने अपने बेटे उत्कर्ष को लीड रोल में लेकर फिल्म जीनियस का निर्माण किया है. आखिरकार कैसी बनी है यह फिल्म आइए समीक्षा करते हैं.

कहानी- फिल्म की कहानी वासुदेव शास्त्री (उत्कर्ष शर्मा) से शुरू होती है जो मथुरा का रहने वाला है. दिखाया गया है कि किस तरह से पढ़ाई- लिखाई के बाद वह भारतीय सुरक्षा के लिए रॉ में काम करने लगता है. इसी दौरान उसकी मुलाकात कॉलेज का प्यार रही नंदिनी (इशिता चौहान) से दोबारा होती है. कहानी में ट्विस्ट तब आता है जब MRS (नवाजुद्दीन सिद्दीकी) की एंट्री होती है. एक तरफ प्यार है तो दूसरी तरफ भारतीय सुरक्षा में घात लगाए लोगों से देश को बचाने का काम वासुदेव को मिलता है. कहानी में बहुत सारे ट्विस्ट और टर्न आते हैं और अंततः क्या होता है यह जानने के लिए आपको फिल्म देखनी पड़ेगी.


Related image

फिल्म की कहानी बहुत ही कमजोर है और जिस तरह से फिल्मांकन किया गया है उसमें कोई नयापन नहीं है. समय समय पर आने वाले गाने इसकी कहानी को और भी कमजोर बना देते हैं. एक बहुत बढ़िया फिल्म बन सकती थी. फिल्म का संगीत भी रिलीज से पहले हिट नहीं हो पाया है. जहां तक अभिनय का सवाल है तो वासुदेव शास्त्री के किरदार में उत्कर्ष शर्मा काफी कमजोर साबित हुए हैं. उन्हे अभी बहुत मेहनत करने की जरुरत है. उनके चेहरे पर ठीक से भाव ही नहीं आते. हीरोईन यानी कि नंदिनी के किरदार में इशिता चौहान का चयन भी गलत ही रहा. उन्हे अभिनय आता ही नहीं है. अकेले नवाजुद्दीन सिद्दिकी इस फिल्म को कितना आगे ले जाएंगे? अफसोस यह है कि फिल्मकार व लेखक ने तो नवाजुद्दीन के किरदार को कई जगह कैरीकेचर व मिमिक्री वाला बना दिया है.


 

LEAVE A REPLY