नाग पंचमी  2018 : जानिए नाग देवता की पूजा का सबसे शुभ मुहूर्त, इन 12 नागो की करें पूजा


 

श्रावण के इस महीने में भगवान शिव के साथ2-साथ उनके आभूषण की भी पूजा-अर्चना होती है। श्रावण के महीने में भगवान शिव को प्रसन्न करने के लिए श्रद्धालु बड़ी ही श्रद्धा के साथ उनकी आराधना करते हैं। जिसका फल उन्हें भगवान शिव जरूर देते हैं वही युगों-युगों से नाग भगवान शिव के आभूषण बने हुए हैं। नागों की भी बालों में एक अलग विशेषता है। आपको बता दें कि नाग पंचमी के दिन नाग देवता की पूजा विशेष महत्व देती है। इस दिन नाग देवता की आराधना से साक्षात् शिव की विशेष कृपा प्राप्त होती है। इस साल नाग पंचमी का पर्व  15 अगस्त 2018 बुधवार को मनाया जाएगा वही आपको बताते चलें कि नाग पंचमी के साथ-साथ इस दिन पूरा भारत स्वतंत्रता दिवस भी मनाएगा।

बता दे कि भगवान शिव ने नाग को अपने गले में स्थान दिया है। ये भगवान शिव के गले का आभूषण है। साथ ही साथ नाग (शेषनाग) भगवान विष्णु की सवारी भी है जो हमेशा उनके सारथी बनकर  रहेंगे। इसके अलावा भी वेदों और पुराणों में नाग देवता के विषय में विस्तार से वर्णन किया गया है। वही, अगस्त का महीना मैं ही श्रावणमास पड़ता है जो शिव के लिए अतिप्रिय होता है, लेकिन शिव भक्ति के अलावा इस महीने में उनके आभूषण के रूप में जाने गए नाग देवता की भी पूजा की जाती है। यह पर्व नाग पंचमी के नाम से जाना जाता है।

बताया जा रहा है कि इसदिन पूर्ण विधि-विधान से लोग नाग देवता की पूजा करते हैं, उन्हें शुद्ध दूध का भोग लगाते हैं और अपनी मनोकामना पूर्ण होने की प्रार्थना करते हैं। कुछ लोग तो इसदिन व्रत भी करते हैं। लेकिन अगर आप केवल पूजन करने जा रहे हैं तो आपको इस नाग पंचमी से संबंधी पूजा का शुभ मुहूर्त के बारे में बता देते हैं। ज्योतिषियों के अनुसार नाग पंचमी का पर्व 15 अगस्त 2018 की सुबह 7 बजकर 1 मिनट पर प्रारंभ हो जाएगा जो कि शाम 6 बजकर 38 मिनट तक चलेगा। लेकिन पूजा का शुभ मुहूर्त सुबह 7 बजे से 8 बजकर 25 मिनट का है।

नाग पंचमी के दिन करें इन 12 नागों की पूजा :-

1- अनंत

2- वासुकी

3- शेेशा

4- पद्मा

5- कंबला

6- कार्कोटका

7- अश्वतारा

8- धृतराष्ट्र

9- शंखपाला

10- कालिया

11- ताकशाका

12- पिंगला

LEAVE A REPLY