45 दिनों के अंदर केरल में बाढ़ से मरे 180 लोग, 8 जिलों में जारी किया रेड अलर्ट


तिरुअनंतपुरम : इनदिनों बारिश से कई राज्यों में बाढ़ जैसे हालात हो गए और कई राज्यों में बाढ़ आ गई है. वही, बारिश का सबसे ज्यादा कहर इस समय केरल में दिख रहा है. जहां पर दूर-दूर तक पानी ही पानी देखने को मिल रहा है. जिससे केरल के लोगों का जन-जीवन तहस-नहस की कगार पर है. लगातार बारिश से केरल में तबाही का मंजर होते जा रहा है. वही इस तबाही ने 180 लोगों की जाने भी  ले ली है. आपको बताते चलें कि  केरल में 45 दिनों के अंदर बाढ़ से मरने वालों की संख्या 180 तक पहुच गई है. हालांकि अब राज्य में बारिश थम गयी है और प्रमुख बांधों का जलस्तर भी धीरे-धीरे कम हो रहा है लेकिन मरने वालों की संख्या में बढ़ोतरी होती जा रही है. वही बताया जा रहा है कि एशिया के सबसे बड़े बांध इडुक्की बांध का पानी भी 2,444 फीट तक कम हुआ है. इस पानी के कारण पिछले 9 दशक में राज्य में यह सबसे बड़ी तबाही है. इससे पहले 1924 में ऐसी प्राकृतिक आपदा देखने को मिली थी.

बता दे कि इन हालातों के चलते गृहमंत्री राजनाथ सिंह ने रविवार को केरल का हवाई दौरे के दौरान जायजा लिया. राज्य के आठ जिलों में अभी भी रेड अलर्ट है. वहीं मौसम विभाग ने राज्य में अगले दो दिन तक भारी बारिश होने की चेतावनी जारी की है. अब तक 55000 लोगों को राहत कैंपों में शिफ्ट किया गया है. वही, राज्य के मुख्यमंत्री पिनयारी विजयन ने चिंता जाहिर करते हुए कहा है कि यह बहुत ही खराब प्राकृतिक आपदा है. उन्होंने सभी की मदद की जरूरत है. वहीं बाढ़ पीड़ितों ने उनसे अपील की उन्होंने इस बाढ़ में अपने जीवन की पूरी कमाई गंवा दी है एसलिए उनकी मदद की जाए. मुख्यमंत्री विजयन ने कहा कि बाद में विशेष अदालतों का गठन किया जाएगा जिससे लोगों को उनके शैक्षिक प्रमाणपत्रों की कॉपी और अन्य कागजात दिए जा सकें.

गौरतलब यह है कि केरल में बारिश और बाढ़ ने भयंकर तबाही मचा रखी है. यहां पर बारिश के कहर से अब तक 180 लोगों की मौत हो चुकी है. ये सभी मौत 29 मई से लेकर अब तक हुई हैं. अगर बात करें आने वाले दिनों में राहत की, तो ऐसे भी कोई आसार नहीं दिख रहे हैं, क्योंकि 14 अगस्त तक केरल के कई जिलों में भारी बारिश की आशंका जताई गई है.

LEAVE A REPLY