UP के इस स्कूल की हालत देखकर हर कोई कहेगा, ऐसे पढ़ेगा इंडिया, तो कैसे बढ़ेगा इंडिया ?


 

बरेली : प्रधानमंत्री के ड्रीम प्रोजेक्ट के तहत न जाने कितनी स्कीम और उनके विज्ञापन पर करोड़ो खर्च कर के देश के ग़रीब बच्चो के उत्थान की कोशिशें की जा रही हैं, सैकड़ो स्लोगन से सुसज़्ज़ित विज्ञापनों में भी अक्सर कहते सुना है के पढ़ेगा इंडिया, तो बढ़ेगा इंडिया, मग़र अब ये बातें महज किताबी बातें प्रतीत होती नज़र आ रही हैं, और हम ऐसा इसलिए कह रहे हैं, क्योंकि यूपी के बुलंदशहर के प्राथमिक विद्यालयों से जो तस्वीरें सामने आ रही हैं, वो यूपी की प्राथमिक शिक्षा व्यवस्थाओं, और विद्यालयों में तैनात गुरुजनों की पोल खोलने के लिए काफी हैं, चन्द दिनों पहले बुलंदशहर के अनूपशहर क्षेत्र के अचलपुर स्तिथ प्राथमिक विद्यालय में मासूम छात्र-छात्रा विद्यालय में झाड़ू लगाते नज़र आए थे, लेकिन बुलंदशहर से अब जो तस्वीरें सामने आई हैं उन्हें देखने के बाद आप खुद ही बोलेंगे, कि अगर ऐसे पढ़ेगा इंडिया तो कैसे बढ़ेगा इंडिया?

दरअसल, ये तस्वीर बुलंदशहर के लखावटी ब्लॉक के खनौदा की है। यहां छोटे-छोटे मासूम छात्रों से मज़दूरी कराई जा रही थी, बच्चों को मज़दूरी के करते देख किसी ग्रामीण ने ये सारा नज़ारा अपने मोबाइल में कैद कर लिया और ये वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल कर दिया। कंधे पर सिलेंडर रखे मासूम छात्र को इस दौरान रोका भी गया और उससे पूछा गया कि मासूम पर सिलेंडर किसने और क्यों रखा है, तो बच्चे ने कहा मास्टर जी ने सिलेंडर ले के जाने को बोला है।

वहीं मासूम छात्रों से कराई जा रही मज़दूरी का वीडयो शोषल मीडिया पर वायरल होने के बाद ग्रामीणों में खनौदा प्राथिमक विद्यालय के शिक्षकों के खिलाफ गुस्सा है, और ग्रामीण ऐसे शिक्षकों के खिलाफ सख्त कार्रवाई की मांग कर रहे हैं। वहीं बुलंदशहर बेसिक शिक्षा अधिकारी भी वायरल वीडियो की जांच करा कार्यवाही का दावा कर रहे हैं।

एेसे में सवाल ये उठता है कि अब बीएसए साहब इस वीडियो की कैसी जांच कराते हैं, और आरोपी शिक्षकों के खिलाफ क्या कार्रवाई की जाती है …?

LEAVE A REPLY