महान गायिका लता मंगेशकर को मिली एक और उपलब्धि, ‘स्वर मौली’ की उपाधि से किया गया सम्मानित


दिल्ली : महान गायिका लता मंगेशकर एक ऐसी हस्ती हैं. जिन्होंने अपनी आवाज से भारत देश के लोगों के दिलों में राज किया. लोग उनके गाये हुए सुपर हिट गानों को आज भी सुनते हैं. बता दें कि महान गायिका लता मंगेशकर ने 6 दशकों से भी ज़्यादा संगीत की दुनिया को सुरों से नवाज़ा है. भारत की ‘स्वर कोकिला’ लता मंगेशकर ने 20 भाषाओं में 30,000 गाने गाये है। वही इस महान गायिका को कई बड़े सम्मान से सम्मानित किया गया है. और अब खबर आ रही है कि इस महान गायिका को माध्यमिक विद्या गुरु निरसिम्हा भारती ने इस उपाधि से सम्मानित किया है. आपको बता दें कि भारत की महान गायिका लता मंगेशकर को शनिवार को आध्यात्मिक गुरू विद्या निरसिम्हा भारती ने स्वर मौली की उपाधि से सम्मानित किया गया. लता मंगेशकर को ये सम्मान उनके निवास प्रभा कुंज में दिया गया. इस मौके पर लता की बहन और फिल्म इंडस्ट्री का महान गायिका आशा भोंसले, ऊषा मंगेशकर और उनके भाई ह्रदयनाथ मंगेशकर मौजूद थे.

16765

बताया जा रहा है कि इस अवसर पर लता मंगेशकर सफेद रंग की साड़ी में नजर आई. उपाधि पाने के बाद अपनी खुशी जाहिर करते हुए लता मंगेशकर ने कहा यह उपाधि प्राप्त करना उनके लिए एक गौरव की बात है. वही इस मौके के दौरान बहन आशा भोसले ने कहा कि वो देश की एक मात्र आदर्श हैं और उनके जैसा कई और नहीं है. और मैं उनके लिए खुश हूं, मेरे भाई और बहन ने इस मौके को बहुत खुशी के साथ मनाया. आपको बताते चले कि महान गायिका का जन्म 28 सितंबर, 1929 को हुआ. वही लता मंगेशकर भारत की सबसे लोकप्रिय और आदरणीय गायिका हैं जिनका छ: दशकों का कार्यकाल उपलब्धियों से भरा पड़ा है. हालांकि लता जी ने लगभग तीस से ज्यादा भाषाओं में फिल्मी और गैर-फिल्मी गाने गाए हैं, लेकिन उनकी पहचान भारतीय सिनेमा में एक पार्श्वगायक के रूप में रही है. लता की जादुई आवाज के भारतीय उपमहाद्वीप के साथ-साथ पूरी दुनिया में दीवाने हैं.

LEAVE A REPLY