एक बार फिर से बिना ड्राइवर के दौड़ा इंजन, चालक किया निलंबित


दिल्ली : ऐसा पहली बार नहीं बल्कि कई बार हुआ है कि बिना ड्राइवर के इंजन पटरी पर दौड़ा. एक बार तो ऐसा भी हुआ कि इंजन को दौड़ता देख ड्राइवर ने पीछे से दौड़कर ट्रेन को रोका. वही एक बार फिर से बिना ड्राइवर के इंजन चल पड़ा ऐसी खबर सामने आई है. बताया जा रहा है कि नंद विहार रेलवे स्टेशन पर शनिवार दोपहर बिना ड्राइवर के इंजन चल पड़ा. कुछ दूर चलने के बाद इंजन पटरी से उतर गया. गनीमत रही कि इससे कोई हादसा नहीं हुआ. मामले में लापरवाही बरतने पर चालक को निलंबित कर दिया गया है. इस मामले में चालक की लापरवाही बताई गई है. वही, जानकारी के अनुसार आनंद विहार स्टेशन के यार्ड में लाइन नंबर 5ए पर डीजल इंजन खड़ा था. अचानक दिन में दोपहर 2ः33 बजे इंजन चल पड़ा. करीब 40 मीटर चलने के बाद इंजन के तीन पहिये रेल लाइन से नीचे आ गए.

हालांकि, इससे रेल यातायात बाधित नहीं हुआ. वही इस मामले में रेलवे अधिकारी कुछ भी आधिकारिक रूप से बोलने को तैयार नहीं हैं. उनका कहना है कि यार्ड में इंजन को खड़ा करते समय हैंड ब्रेक लगाया जाता है. चालक की लापरवाही की वजह से यह घटना हुई है. जिम्मेदार चालक को निलंबित कर दिया गया है. रेलवे अधिकारियों का कहना है कि यार्ड में इंजन बंद करने के बाद पार्क किए जाते हैं. पार्क करते समय हैंड ब्रेक भी लगाया जाता है. कभी भी इस तरह की घटना नहीं होती है. अगर हैंड ब्रेक सही तरीके से लगाए गए होते तो इंजन स्वतः आगे नहीं बढ़ता.

बताया जा रहा है कि 6 अप्रैल को भी ऐसी ही एक घटना हुई थी, जिसमें ट्रेन के 22 कोच 10 किलोमीटर तक बिना ड्राइवर के दौड़ गए थे. यह मामला ओडिशा के बेलांगिर इलाके में हुआ क्योंकि स्किड ब्रेक नहीं लाया गया था. य़घटना के वक्त अहमदाबाद-पुरी एक्सप्रेस यात्रियों से भरी हुई थी. इस घटना के बाद 7 रेलवे कर्मियों को सस्पेंड कर दिया गया था. उधर, झिलमिल इंडस्ट्रियल एरिया में रेलवे लाइन के करीब पड़े कूड़े में लगी आग के कारण वहां से गुजर रही एक ईएमयू समेत दो ट्रेनों को रोकना पड़ा. घटना शनिवार दोपहर करीब 12:45 बजे की है

LEAVE A REPLY